आपकी Value क्या है ? – Apki Value Kya Hai ?

आपकी  Value क्या है ? – Apki Value Kya Hai ?
Spread the love

Hindi Motivational Story :- Apki value Kya hai

दोस्तों आपको में इस कहानी में बताऊंगा की आपकी वैल्यू क्या है। ये कहानी पढ़कर आपको मोटिवेशन मिलेगा।

एक बार एक बच्चे ने अपने पापा से पूछा की पापा मेरी लाइफ की क्या वैल्यू है?

इस बात पर उसके पापा ने उसको एक पत्थर दिया और कहा की तुम इस पत्थर को बाजार  में बेच कर आओ।  मगर जब कोई तुमसे इस पत्थर का प्राइस पूछे तो तुम कुछ मत कहना बस अपनी २ उंगली दिखा देना।

 लड़के ने ठीक वैसे ही किया।  वो बाजार में जाकर पत्थर लेकर बाजार  में बैठा थ।  तभी वहाँ  एक बूढी औरत आई , उसने बच्चे से पूछा की इस पत्थर की कीमत क्या है -उस बच्चे ने कुछ जवाब नहीं दिया उसने बस अपनी २ उंगली दिखा दी।  तब उस बूढी औरत ने कहा मै  तुम्हे इस पत्थर की कीमत २०० रूपये दे सकती हूँ |  ये लो २०० रूपये और मुझे ये पत्थर दे  दो।  ये सुनकर लड़का चौक गया और जाकर अपने पापा को बोला की पापा मुझे एक बूढी औरत मिली थी जो इस पत्थर के २०० रूपये देने को तैयार थी । 

इसके बाद उस लड़के के पिता ने कहा कल तुम इस पत्थर को म्युसियम में लेकर जाना।  अगले दिन सुबह लड़का उस पत्थर को एक म्युसियम के पास लेकर खड़ा था।  तभी वह पर एक आदमी आया उसने कहा , बेटा ये पत्थर कितने का है। लड़के ने अपनी २ उंगली दिखा दी। 

फिर उस आदमी ने कहा , ठीक है में तुमको इस पत्थर के 20 ,००० रूपये दे सकता हूँ।  यह सुनकर लड़का चकित हो गया और फिर अपने पापा के पास गया और बताया की  एक  आदमी मुझे इस पत्थर के २०,००० रूपये देने को तैयार था।  फिर उसके पिता ने कहा बेटे कल तुम इस पत्थर को पुराने ज़माने के पत्थर बेंचने वाले के दुकान पर जाना। 
Apki Value Kya hai ? App Jante Ho ?

आपकी वैल्यू क्या है , ये आप जानते हो ?

अगले दिन लड़का एक एंटीक  सामान  बेचने वाले के दुकान पर गया और वहाँ दुकान के बाहर पत्थर रखकर बैठा था।  तभी वहाँ से एक बहुत आमिर आदमी आते हुवे दिखाई दिया  उस आदमी  ने उस पत्थर को देखा और पूछा बेटा ये पत्थर कितने का है।  उस लडके के अपनी २ उंगली दिखा दी।  फिर आदमी ने कहा ठीक है मै कब से ऐसे पत्थर को ढूढ़ रहा था।  मै तुमको इस पत्थर के २ लाख रूपये दे सकता हूँ।  यह सुनकर लड़का बहुत ख़ुश हुआ और उस पत्थर को लेकर अपने घर चला गया।  फिर उसे अपने पापा से ये सारी बात बताई।  तब उसके पापा ने कहा देखो बेटा , तुम्हारी कीमत क्या है ये सिर्फ  तू जानते हो। अगर  तुम अपने आप को सस्ते जगह पर बेचोगे तो लोग तुम्हे सस्ते मै ही खरीद लेंगे। इस लिए अपने  आप को उस जगह जाकर बेचो जहा तुम्हे तुम्हारी काम की सही कीमत मिल सके।

Read More :- जिंदगी सबको जितने का एक मौका देती है 

दोस्तों हमारे जीवन में भी यही होता आ रहा है , कभी कभी हम अपने कंपनी में बहुत काम करते है लेकिन हमें हमारे काम की सही कीमत नहीं मिलती ( या हमें उतनी सैलरी नहीं मिलती जितना हम काम करते है ) क्युकी हम उस जगह पर है जहा पर हमारी कीमत ही नहीं लगाई जा रही – जैसे उस बुढ़िया ने उस पत्थर की कीमत २०० रूपये लगाई थी।  इसके लिए हमे उस जगह पर जाना होगा जहा हमारे उसी काम की भरपूर कीमत मिल सके।  – जैसे उसी पत्थर की कीमत २,००००० रूपये हो गई थी।  पत्थर एक ही था पर कीमत अलग अलग – सिर्फ जगह का फर्क और कीमत सौ गुना। 

दोस्तों लोग तो आपको सस्ते में ही  खरीदेंगे पर आप अपने आप को  उस जगह ( काम करो ) बेचो  जहा आपके काम की सही कीमत मिल सके। क्युकी आपकी कीमत क्या (आपके काम की कीमत क्या है ) है ये आप जानते हो लोग नहीं।  

दोस्तों आपको  ये कहानी कैसे लगी कमेंट्स में बताना अगर अच्छी लगी तो अपने दोस्तों को शेयर  करना ताकि उनके भी मोटिवेशन मिल सके। 

Meri Kahani
Merikahani

दोस्तों मेरा नाम पंकज है | मैं एक Digital Marketer और Blogger हूँ | मैं अपने इस ब्लॉग में आपके लिए मोटिवेशन से भरपूर कहानिया लेकर आता रहूँगा , जिससे आपको Motivation मिलेगा |

Merikahani

दोस्तों मेरा नाम पंकज है | मैं एक Digital Marketer और Blogger हूँ | मैं अपने इस ब्लॉग में आपके लिए मोटिवेशन से भरपूर कहानिया लेकर आता रहूँगा , जिससे आपको Motivation मिलेगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!