जंगल के शेर बनो सर्कस के नहीं – Jungle ke Sher bano Circus ke Nahi

जंगल के शेर बनो सर्कस के नहीं – Jungle ke Sher bano Circus ke Nahi
Spread the love

जंगल के शेर बनो सर्कस के नहीं :- मेरे दोस्तों आज में आपको इस  पोस्ट में बताऊंगा की हमें आपके जीवन में किस तरह रहना चाहिए | ये कहानी है २ शेरो की | इस दुनिया में २ तरह के शेर होते है | पहला वो जो सर्कस में रहता है और मस्त आराम से अपना जीवन जीता है | जिसको न खाने की टेंशन है, न पिने की | उसे ३ टाइम का खाना मिलता है | मस्त गोस्त मिलता है , वो खाता है , पिता है और सो जाता है | उसे बस पिंजरे में कैद हो के रहना पड़ता है | बस अपने मालिक के कहने पर रस्सी पर चलना , आग में कूदना , और अपने मालिक की गुलामी करना होता है | उसे किसी तरह की वातावरण की कोई टेंशन नहीं है | मस्त अपनी मस्ती में जी रहा है |

वही जो दूसरा जंगल का शेर है | उसको बहुत टेंशन है , खाने का पिने का , बरसात का | उसको ये भी नहीं पता की उसको कल खाना मिलेगा की नहीं , उसे 3 टाइम का तो छोड़  दो एक टाइम का भी खाना मिल गया तो वो खुश नसीब समझेगा अपने आप को | तो मेरे दोस्तों अगर आपको ये मौका मिले तो आप कोस सा शेर बनाना पसंद करोगे | जंगल का या सर्कस का  Comments में बताना Please.

लेकिन इस दुनिया में ९०% लोग तो सर्कस के शेर है | क्योकि आराम से सब कुछ मिल रहा है | अपने Comfort जोन में है | लेकिन सर्कस के शेर की प्रोब्लेम ये है की वो जो चाबुक मरने वाला है उसे उसके हिसाब से चलना पड़ता है | वो बोलता है तो उठना पड़ता है और बोलता  है तो बैठना पड़ता है | वो कहता है तो आग में कूदना पड़ता है और उसकी हर बात मानना पड़ता है | कभी कभी तो जब वह पिंजरे में बंद रहता है तो बच्चे उस शेर की पूंछ पकड़ा कर खींच कर भाग जाते है | लेकिन अगर वह शेर पिंजरे के बाहर होता तो कोई ऐसा कर पाता | क्या शेर किसी की गुलामी करने के लिए इस दुनिया में आया है ,क्या ये उस शेर को शोभा देता है ??

इस दुनिया में काफी लोग यही कर रहे है वो अपनी जिंदगी में Job कर रहे है और अपने जीवन को जी रहे है | माफ़ कीजिये मैं Job का विरोधी नहीं हूँ | लेकिन हम Job से अपने जीवन में अपने बिलो को भुगतान तो कर सकते है , मगर अपने सपने को पूरा नहीं कर सकते | Job हमे लाइफ तो दे सकती है पर एक अच्छी लाइफ स्टाइल नहीं दे सकती |

सर्कस के शेर और जंगल के शेर में क्या अंतर है ??

circus ke nahi

Job में लाइफ Comfotrable है कोई टेंशन नहीं है | हमे पता है की महीने की आखरी तारीख को हमारे मोबाइल में एक मैसेज आयगे और कुछ अमाउंट हमारे अकाउंट में क्रेडिट हो जायेगा|कंपनी का साल का टर्नओवर बढे की न बढे ,अपने को टेंशन नहीं , हमको हमारा पगार महीने के अंत तक मिल जायेगा | जिंदगी में कोई टेंशन नहीं |

Read This :- कर्म का फल भोगना ही पड़ता है |

लेकिन वही अगर Job के बदले बिज़नेस किया जाये तो बहुत टेंशन है | काम होगा या नहीं होगा हमको नहीं पता बहुत मेहनत करनी पड़ेगी |  अगर में आप को पुछु की आप कौन सा शेर बनाना चाहोगे तो आप सब जंगल का ही कहोगे | ” मगर मेरे दोस्त आपको जंगल का शेर बनने के लिए कुछ अलग करना पड़ेगा जो सब करते है “ | थोड़ा ज्यादा मेहनत करना पड़ेगा और अपने Comfort जोन को तोड़ कर काम करना पड़ेगा |  मेरे दोस्त पिंजरा सोने का हो या लोहे का पिंजरा -पिंजरा ही होता है | आदमी उसमे कैद हो जाता है | अगर शेर जंगल में रहता है तो उसे बहुत ही तकलीफ होती है | कभी खाने को मिलता है | कभी नहीं मिलता पर वह अपनी मर्जी का मालिक होता है और जंगल के सारे लोग उससे डरते है | वह जंगल में एक राजा की तरह जिंदगी जीता है और सब पर राज करता है |

Jungle ke sher

क्या सर्कस में रहने वाला शेर कोई जिंदगी जी रहा है | अरे वो तो गुलामी कर रहा है |  सर्कस में रहने की बजाय जंगल में रहता , भले ही तकलीफ होती | एक टाइम खाने को नहीं मिलता  मगर अपनी मर्जी से जीता और जंगल पर राज करके राजा की तरह जीता |

मगर अब हम अपनी लाइफ में Comfortable  हो है, क्युकी हमने अपनी लाइफ से Compromise करना सिख लिया है |अगर हमारी कमाई १००Rs. है, तो हमारा खर्चा १5० Rs है | तो हम क्या करते है , अपना खर्चा काम कर देते है | क्युकी अगर  खर्चा बढ़ाएंगे तो कमाई कम पड़ जाएगी और ज्यादा काम करना पड़ेगा | शरीर को तकलीफ होगी | तो हम क्या करते है . साला अपना खर्चा ही काम कर देते है और आराम से Comfortable लाइफ जीते है और कहते है भाई अपनी तो लाइफ सेट है |  क्युकी कमाई = खर्चा No Tension | लेकिन मैं कहता हु की अपने को खर्चे की टेंशन छोड़ कर कमाई पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए |  जब कमाई बढ़ेगी तो खर्चा अपने आप कम हो जायेगा | लेकिन उसके लिए ज्यादा अधिक मेहनत करनी पड़ेगी | अपनी Comfortable लाइफ को छोड़ कर ज्यादा काम करना पड़ेगा तकलीफ होगी | मेरे भाई एक बार  सर्कस के शेर की लाइफ छोड़ कर जंगल के शेर बनने की कोशिश करो | तुमको जिंदगी में भले थोड़ा तकलीफ होगी लेकिन एक दिन ऐसा आएगा की तुम्हारी लाइफ से खर्चा बचाने का टेंशन ही ख़तम हो जायेगा और तुम अपनी लाइफ के वो सरे सपने पुरे कर पाओगे जो तुम जिंदगी भर सर्कस के शेर बनकर नहीं कर पाओगे |

सारांश :- मेरे  दोस्तों आप जब तक अपनी Comfortable  लाइफ को छोड़ कर थोड़ा ज्यादा काम नहीं करेंगे तब तक आप सर्कस के शेर बन कर रह जायेंगे और पूरी जिंदगी किसी दूसरे की इशारो पर चलते रहेंगे | एक बार जंगल का शेर बनने की कोशिश कर के देख लो एक दिन तुम राजा की तरह राज करोगे और ऐसो आराम की जिंदगी जीते हुए अपने परिवार की हर ख्वाइस को पूरा कर सकोगे | दोस्तों आपको ये पोस्ट कैसी लगी कमेंट में बताना | धन्यवाद दोस्तों ..

Merikahani

Merikahani

दोस्तों मेरा नाम पंकज है | मैं एक Digital Marketing Expert और Blogger हूँ | मैं अपने इस ब्लॉग में आपके लिए मोटिवेशन से भरपूर कहानिया लेकर आता रहूँगा , जिससे आपको Motivation मिलेगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!