दो पत्थरो की कहानी – Do Patharo Ki Kahani

दो पत्थरो की कहानी – Do Patharo Ki Kahani
Spread the love

दोस्तों देखो लिखने वाले ने भी क्या खूब लिखा है कीहंस के बात करो ज़माने से , क्युकी उम्र बढ़ती है मुस्कुराने से “

नमस्कार दोस्तों में पंकज। आज आपके सामने एक बहुत ही बेहतरीन कहानी लेकर आया हूँ जिसे पढ़कर आपको बहुत ही मोटिवेशन मिलेगा अपने जीवन में। 

दो पत्थरो की कहानी ।  एक नदी थी जो बहुत ही दूर तक फैली हुई थी और एक ऊँची पहाड़ की चोटी से बहती हुई जमीन पर गिरती थी।  उस नदी के किनारे बहुत सारे  छोटे, बड़े, लम्बे ,चौड़े, गोल मटोल और ढेर सरे पत्थर पड़े थे। उसी  नदी के किनारे २ पत्थर और थे।  जिसमे  एक पत्थर बहुत ही सूंदर और गोल था।  देखने में भी वो पत्थर इतना सुंदर था की देखते ही उसपर मन खुश हो जाये।  वही उसके बाजु में एक और पत्थर था जो देखने में काफी बड़ा था और बहुत भी भद्दा था।  धीरे धीरे दोने पत्थरो में आपस में दोस्तों हो जाती है।  एक दिन वो खुरदुरा पत्थर दूसरे पत्थर से कहता भाई हम दोने एक ही नदी से बहकर आ रहे हैं फिर भी हम दोनों के आकर  में इतना फर्क क्यों।  तुम इतने खूबसूरत दीखते हो और में एक दम खुरदुरा दिख रहा हूँ। 

तब उस चिकने पत्थर ने जब खुरदुरे पत्थर से कहा तो  यकीन मानिये ऐसा लगा की उसने जिंदगी की सारी सच्चाई को बता कर रख दिया।

संघर्ष के बिना जीवन में कुछ नहीं मिलता

do Patharo ki kahani

तब उस चिकने पत्थर ने कहा – पहले में भी तुम्हारी ही तरह खुरदुरा था।  मेने बहुत सालो तक संघर्ष किया है , इस नदी के तेज बहाव को झेला है , अंधी तूफान का सामना किया है तब जाकर मुझे ये आकर मिला है।  इस आकर को पाने के लिए मैंने कई साल तक संघर्ष किया और हार नहीं मानी। 

Read More :- अपने रास्ते खुद चुनो

दोस्त तुम भी अपने जीवन में संघर्ष करो मेहनत करो तब तुम भी मेरी ही तरह खूबसूरत बन जाओगे। अगर में भी चाहता तो एक किनारे पर पड़ा रहता और आराम से जिंदगी जी लेता लेकिन मेने संघर्ष का रास्ता चुना और आज में तुम्हारे सामने हुई। कभी कभी में भी थक जाता था लेकिन जीवन में संघर्ष के बिना आप आगे नहीं बढ़ सकते और अगर आपको आगे बढ़ना है तो संघर्ष करना ही होगा। खुरदुरा पत्थर अपने चिकने पत्थर की बात को सुनकर बहुत खुश हुआ।

दोस्तों हमारे भी जीवन में बहुत तकलीफ है कठिनाई है।  कभी कभी हम किसी काम में बहुत मेहनत करते है और हमे लगता है की मेरे साथ कुछ नहीं हो रहा है।  दोस्तों अगर हम लगातार संघर्ष करते रहेंगे तो एक न एक दिन हमे सफलता मिल ही जाएगी इसलिए  हमें कभी भी संघर्ष नहीं छोड़ना चाहिए और अपने काम में लगे रहना चाहिए और एक दिन आपको सफलता जरूर मिलेगी। 

दोस्तों  किसी ने कहा है ” इस दुनिया में सिर्फ तुम ही हो जो खुद को हरा सकते हो और कोई तुमको नहीं हरा सकता।  इसलिए खुद पर भरोसा करके अपने काम में लग जाओ और कुछ कर जाओ ऐसा की दुनिया बनना चाहे सिर्फ तुम्हारे जैसा “दोस्तों ये पोस्ट आपको कैसी लगी कमैंट्स में बताना। 

 

Meri Kahani
Merikahani

दोस्तों मेरा नाम पंकज है | मैं एक Digital Marketer और Blogger हूँ | मैं अपने इस ब्लॉग में आपके लिए मोटिवेशन से भरपूर कहानिया लेकर आता रहूँगा , जिससे आपको Motivation मिलेगा |

Merikahani

दोस्तों मेरा नाम पंकज है | मैं एक Digital Marketer और Blogger हूँ | मैं अपने इस ब्लॉग में आपके लिए मोटिवेशन से भरपूर कहानिया लेकर आता रहूँगा , जिससे आपको Motivation मिलेगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!